Breaking

टर्नर आईटीआई ट्रेड कोर्स क्या है | Turner ITI Course Information in Hindi

ITI में कई Trade होती है | इन Trade में से कुछ Mechanical Trade होती है जो की Best Trade मानी जाती है | यहाँ आपको आईटीआई की एसी ही एक ट्रेड टर्नर के बारे में बताने वाले है | Turner ITI Course क्या होता है , टर्नर ट्रेड का भविष्य क्या है , टर्नर ट्रेड में कितने Subject होते है , टर्नर कहाँ कहाँ जॉब कर सकता है | आदि की जानकारी के लिए इस पोस्ट को पूरा पढ़ें | 


turner ITI Course


 Turner ITI Course क्या है 

टर्नर के अन्दर एक एसी मशीन प्रयोग की जाती है जिसके द्वारा लकड़ी या धातु के टुकड़ो को मनचाहा शेप या आकृति प्रदान कि जाती है उसे लेथ (खराद) मशीन कहते है और इसी मशीन का प्रयोग टर्नर ट्रेड में किया जाता है जिसे टर्नर कहते है |


लेथ बहुत पहले के मशीन टूल्स में से एक है जो की अन्य सभी से अधिक बहुमुखी होती है | इसका मुख्य प्रयोग सर्क्युलर सरफेसो की मशीनिंग करने के लिए किया जाता है अर्थार्त सीलिंड्रीकल या कोनिकल परन्तु इसका प्रयोग फ्लेट सर्फेसो को बनाने, होल्स में ड्रील करने , और कई प्रकार के अन्य कार्य करने के लिए भी किया जाता है | 


अधिक सी वस्तुए जो हम प्रयोग करते है में लेथ पर बने हुए कुछ या अधिक पार्ट्स होते है | लेथ को सभी मधीं टूल्स की माँ कहा जाता है | उत्पादन करने वाली प्रत्येक वर्कशॉप को किसी एक या अन्य प्रकार की लेथ की आवश्यकता होती है | आधुनिक विकास होने के बाद भी लेथ आधारभूत रूप में वैसी ही है जैसी सौ साल पहले थी |



Turner कितने वर्ष का Course है एवं इसके लिए योग्यता क्या है 

टर्नर की समयावधि 2 वर्ष की होती है ! इस ट्रेड में प्रवेश लेने के लिए 10वी पास योग्यता वोज्ञान और गणित विषय के साथ होनि चाहिए | परन्तु कुछ राज्यों में गणित विषय को छोड़ रखा है और यदि छात्र के पास 10वी कक्षा में विज्ञान विषय भी होगा तो वह प्रवेश का पात्र माना जाएगा | 


टर्नर ट्रेड के लिए शासकीय आई टी आई की बात करे तो वहा पर इसकी फीस एक वर्ष की अभी वर्तमान  में 4770 रूपए है तथा यह फ़ीस छात्रवती प्राप्त छात्रो को छात्रावती के रूप में वापस मिल जाती है | 


यदि हम प्रायवेट आई टी आई की बात करे तो वहा पर इस कोर्स की फीस 30000 से 40000 के बिच रहती है | यह ट्रेड दो पाट्यक्रम SCVT तथा NCVT के अंतगर्त संचालित किये जाते है |


ITI Turner में कौन कौन से Subjects होते होते है 

टर्नर ट्रेड के अन्दर निम्न सब्जेक्ट आते हे जो निचे दर्शाए गए है –

  1. टर्नर ट्रेड थ्योरी  ( Turner Trade Theory )
  2. वर्कशॉप केल्कुलेशन एंड साइंस ( Workshop Calculation & Science )
  3. इंजनियरिंग ड्राइंग ( Engineering Drawing )
  4. एम्प्लोयबिलिटी स्किल्स ( Employability Skills )
  5. ट्रेड प्रेक्टिकल्स ( Turner Trade Practical )


टर्नर में कौन कौन सी जॉब कर सकते है

टर्नर के अन्दर हम इस ट्रेड के द्वारा रेलवे अप्रेंटीशिप कर सकते है जिसके अन्दर हमें प्रायोगिक कार्य शिखने को मिलता है जिसके अन्दर हमें 5000 से 9000 के बिच कुछ स्टाइफ्न्ड मिलता है | 


यह आपकी सलेरी नहीं होती है सेलरी के लिए आपको नोकरी करने के लिए जाना पडता है जो किसी अन्य जगह कंपनी के माध्यम से मिलाती है |  इसके द्वारा हम भेल , इंडियन ऑइल , BEL, हिएल इत्यादि कंपनी में कार्य कर सकते है | 


इसके अंतगर्त कुछ अन्य सेक्टर भी आते है जो इस प्रकार है ओटोमोबाइल इंडस्ट्रीज, NPC , बिल्डिंग वर्क इत्यादि | इस ट्रेड के माध्यम से हम स्वयं का व्यवसाय भी शुरू कर सकते है जैसे स्माल स्केल इंडस्ट्रीज , मैन्युफैक्चरिंग इंडस्ट्रीज , प्रोडक्शन इंडस्ट्रीज इत्यादि में हम स्वयं का कार्य शुरू कर सकते है | 


यह भी पढ़ें - 

ITI Turner Syllabus | आईटीआई टर्नर के लिए सिलेबस 


टर्नर ट्रेड के मुख्य सब्जेक्ट इस प्रकार है जिसका इंडेक्स निचे प्रदर्शित है 

ITI Turner Trade Theory Syllabus 

  1. सुरक्षा (Safety)
  2. मार्किंग और मार्किंग टूल्स ( Marking and marking Tools )
  3. हैण्ड टूल्स ( Hand Tools )
  4. सुक्ष्ममापी यंत्र ( Precision Instruments )
  5. माप और माप लेने वाले औजार ( Measurement and Measuring Tools )
  6. गेजिस ( Gauges )
  7. कटिंग टूल्स और कार्यक्रियाए ( Cutting Tools and Fasteners )
  8. स्क्रू थ्रेड्स और फास्टनर्स ( Screw Threds and Fasteners )
  9. ट्रांसमिशन और पॉवर ( Transmission of Power )
  10. लिमिट्स और फिट्स ( Limits and Fits )
  11. सरफेश फिनिश और ज्यामितीय टोलरेंस ( Surfesh Finish and Geometrical Tolerance )
  12. लुब्रिकेंट्स , कुलेंट्स और ज्यामितीय टोलरेंस ( Lubricants, Coolants and General Maintenance )
  13. जिग्स और फिक्सचर ( Jigs and Fixtures )
  14. धातुए ( Metals )
  15. हीट ट्रीटमेंट ( Heat Treatment )
  16. फोर्जिंग ( Forging )
  17. लैथ ( Lathe )
  18. कैप्सटन और टरेट लेथ ( Capstan and Turret Lathe )
  19. स्पेशल मशीने और ऑपरेशन ( Special Machines and Operations )

ITI Turner Workshop Calculation & Science Syllabus

  1. इकाईयॉ [ Unit ]
  2. भिन्न ” [ Fractions ]
  3. वर्गमूल ” [ Square Root ]
  4. अनुपात और समानुपात ” [ Ratio& Proportion ]
  5. प्रतिशत” [ Percentage ]
  6. बीजगणित ” [ Algebra ]
  7. ज्यामिति ” [Mensuration ]
  8. त्रिकोणमिती ” [ Trigonometry ]
  9. पदार्थ विज्ञान ” [ Material Science ]
  10.  द्रव्यमान ” [ Mass, Weight and Density ]
  11. चाल वेग ” [ Speed and Velocity ]
  12. कार्य, शक्ति और उर्जा ” [ Work, Power and Energy ]
  13. उष्मा और तापमान ” [ Heat Treatment ]
  14. विधुत ” [ Basic Electricity ]
  15. उतोलक एवं सरल मशिन ” [Levers and Simple Machines ]

ITI Turner Engineering Drawing Syllabus

  1. ड्राइंग उपकरण तथा सांकेतिक रेखाए ( Drawing Instruments and Conventional Lines )
  2. व्यावसायिक अक्षरांकन ( Technical Lettering )
  3. सांकेतिक इंजीनियरिंग ड्राइंग ( Conventional Engineering Drawing )
  4.  विमांकन ( Dimensioning )
  5. मापनी ( Scale )
  6. मुक्त– हस्त चित्रण ( Free Hand Drawing )
  7. चित्रिय प्रक्षेप ( Pictorial View )
  8. लम्बकोणीय प्रक्षेप ( Orthographic Projections )
  9. छेदीय द्रश्य ( Sectional View )
  10.  ड्राइंग पढना ( Reading Of Drawing )
  11. तलो का विकास ( Development of Surfaces )
  12. स्थाई बंधक : रिवेट व वैल्डिंग ( Permanent Fasteners : Rivets and welding )
  13. स्क्रू – थ्रेड व स्क्रू बंधक ( Screw Threads and Screw Fasteners )
  14. की , कॉटर और जबडे ( Keys, Cotters and Joints )
  15. पाइप ज्वाइंट ( Pipe Joints )
  16. कारपैंट्री ज्वाइंट्स ( Carpentry Joints )
  17. लिमिट , फिटस एवं टॉलजैंस ( Limits, Fits and Tolerances )
  18. ट्रेड ड्राइंग ( Trade Drawing )
  19. की , कॉटर और जबडे ( Electrical Drawing )
  20. इलैक्ट्रोनिक्स ड्राइंग ( Electronics Drawing )


ITI Turner Employability Skills Syllabus

  1. आई.टी. साक्षरता ( I.T. LITERACY )
  2. अंग्रेजी साक्षरता (ENGLISH LITERACY)
  3. सम्प्रेषण कौशल (COMMUNICATION SKILLS)
  4. उद्यमिति कौशल (ENTREPRENEURSHIP SKILLS)
  5. पर्यावरण अध्ययन (ENVIRONMENTAL EDUCATION)
  6. व्यावसायिक सुरक्षा, स्वास्थ्य एवं प्रर्यावरण (BUSINESS SECURITY, HEALTH AND ENVIRONMENT)
  7. श्रमिक कल्याण अधिनियम ( LABOUR WELFARE LEGISLATION)
  8. गुणवता औजार ( QUALITY TOOLS)
  9. उत्पादकता ( PRODUCTIVITY)


ITI Turner Trade Practical Syllabus


आईटीआई टर्नर में ट्रेड प्रैक्टिकल टी, थ्योरी सब्जेक्ट से जुड़े होते है | ट्रेड थ्योरी सब्जेक्ट में आप जो भी टॉपिक के बारे में पढ़ते है | उससे सम्बंधित प्रैक्टिकल इस सब्जेक्ट के अन्दर हमें सिखाया जाता है | यही सब्जेक्ट हमें एक टर्नर बनाता है | 

Final Word - तो इस पोस्ट में आपने जाना Turner ITI Course क्या है | इसे करने के लिए क्या क्या योग्यता होनी चाहिए और टर्नर में कौन कौन से सब्जेक्ट होते है एवं टर्नर से कहाँ कहाँ जॉब कर सकते है | उम्मीद करते है , यह जानकारी आपके लिए महत्वपूर्ण रही होगी | कृपया इस जानकारी को अपने साथियों के साथ भी जरुर शेयर करें और हमारे नये पोस्ट की जानकारी के लिए हमसे सोशल मीडिया पर जुड़े | 


No comments:

Post a Comment